ख्यमंत्री कार्यालय, पंजाब
कैप्टन अमरिन्दर सिंह सरकार द्वारा 550वें प्रकाश पर्व के अवसर परसुल्तानपुर लोधी में समागम श्री अकाल तख्त साहिब की सरप्रस्ती अधीन करने की पेशकश
मुख्यमंत्री ने श्री अकाल तख्त के जत्थेदार के साथ बातचीत करते विनम्रतापूर्वक न्योता दिया
चन्नी और रंधावा मुख्य समागम के विस्तृत प्रस्ताव के साथ जत्थेदार को मिले
चंडीगढ़, 15 अक्तूबर:
श्री गुरू नानक देव जी के 550वें प्रकाश पर्व के अवसर पर मुख्य समागम को मनाने के लिए आ रही रुकावट को तोड़ते हुये मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह के नेतृत्व वाली सरकार ने मंगलवार को पहल करते हुये सुल्तानपुर लोधी में 11 /12 नवंबर को शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के सहयोग से श्री अकाल तख्त साहिब के जत्थेदार की सरप्रस्ती अधीन समागम करवाने की पेशकश दी है।
मुख्यमंत्री ने श्री अकाल तख्त साहिब के जत्थेदार ज्ञानी हरप्रीत सिंह के साथ फोन पर बातचीत की जबकि उनके मंत्रीमंडल के दो साथी चरनजीत सिंह चन्नी और सुखजिन्दर सिंह रंधावा राज्य सरकार की यह पेशकश लेकर जत्थेदार साहिब को भी मिले।
इसके उपरांत दोनों मंत्रियों ने बताया कि उन्होंने आज मुख्यमंत्री द्वारा जत्थेदार साहिब को विनती की थी कि वह शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी को निर्देश देें कि वह अधिकारित समागम को करवाने में सहयोग दें जिससे अलग स्टेज सजाने के लिए संगत के पैसे में से खर्च किए जा रहे 12-15 करोड़ रुपए व्यर्थ न जाएँ जबकि राज्य सरकार द्वारा पहले ही इस ऐतिहासिक दिवस के मौके पर ज़रुरी ढांचा तैयार किया जा चुका है। उन्होंने कहा कि बेहतर होगा कि यह राशि धर्म प्रचार के काम की तरफ़ लगाई जाये जोकि शिरोमणि कमेटी का मुख्य कार्य है। उन्होंने कहा कि दो स्टेजों से करवाए जाने वाले विभिन्न समागम संगतों के लिए भी उलझने डालेंगेे।
राज्य सरकार द्वारा पेशकश के अनुसार मुख्य समागम के दौरान किसी को भी कोई राजसी भाषण करने की इजाज़त नहीं होगी। इस समागम के दौरान स्टेज पर सिफऱ् पाँच तख्तों के जत्थेदार, दरबार साहिब का हैड ग्रंथी, प्रधानमंत्री (या केंद्र सरकार का कोई एक सीनियर नुमायंदा), पूर्व प्रधानमंत्री डा. मनमोहन सिंह, मुख्यमंत्री और शिरोमणि कमेटी के प्रधान बैठेंगे।
श्री अकाल तख्त साहिब के जत्थेदार ने कहा कि वह 11 -12 नवंबर को सुल्तानपुर लोधी में होने वाले मुख्य समागम के प्रोग्राम को अंतिम रूप देने के लिए अगले हफ्ते पाँच तख्तों के जत्थेदारों की मीटिंग बुलाएंगे। इस समागम में लाखों श्रद्धालुओं ने आना है।
दोनों मंत्रियों ने जत्थेदार को कहा कि राज्य सरकार महसूस करती है कि इस ऐतिहासिक मौके पर श्री गुरु नानक देव जी के ‘साझी वालता’ के फलसफे की महत्ता को ध्यान में रखते यह चाहिए कि सिख भाईचारा यह समागम मिल -जुल कर मनाए।
एक विनम्र सिख होने के नाते कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने सभी सिखों को श्री अकाल तख्त साहिब की सरप्रस्ती अधीन इस समागम को मिल-जुल कर मनाने के लिए कहा। उन्होंने आशा अभिव्यक्त की कि श्री अकाल तख्त साहिब की सरप्रस्ती अधीन 550वें प्रकाश पर्व मनाने में किसी भी सिख को कोई दिक्कत नहीं होनी चाहिए क्योंकि यह सिख धर्म का सर्वोच्च और सम्मानीय स्थान है।
श्री चन्नी और स. रंधावा ने कहा कि मुख्यमंत्री की राय थी कि इस ऐतिहासिक दिवस की पवित्रता को देखते हुये विश्व भर से इन समागमों में शिरकत करने के लिए आने वाले लाखों श्रद्धालुओं के लिए पंजाब के सिखों के दरमियान किसी भी तरह कीमतभेद या विभिन्नताओंं की भावना नहीं होनी चाहिए।
दोनों मंत्रियों ने जत्थेदार साहिब को बताया कि राज्य सरकार को शिरोमणि कमेटी की तरफ से गुरुद्वारा साहिब के अंदर अन्य सम्बन्धित समागम अलग तौर पर करने सम्बन्धी कोई ऐतराज़ नहीं है।
—–
सूचना एवं लोक संपर्क विभाग, पंजाब
-550वां प्रकाश पर्व –
शताब्दी समागमों को यादगारी बनाने में कोई कसर बाकी नहीं छोड़ी जायेगी -अनिन्दिता मित्रा
डायरैक्टर सूचना एवं लोक संपर्क द्वारा सुल्तानपुर लोधी में डिजिटल म्युजिय़म और लाईट एंड साऊंड प्रोग्रामों के प्रबंधों का जायज़ा
मीडिया सैंटर की स्थापना, शिनाख्ती पासों आदि के लिए अधिकारियों को दिए दिशा-निर्देश
चंडीगढ़ /सुल्तानपुर लोधी, 15 अक्तूबर:
सूचना एवं लोक संपर्क विभाग के डायरैक्टर श्रीमती अनिन्दिता मित्रा ने कहा है कि पंजाब सरकार द्वारा श्री गुरु नानक देव जी के 550वें प्रकाश पर्व समागमों को यादगारी बनाने के लिए गुरू साहिब से सम्बन्धित स्थानों पर विश्व स्तरीय समागम करवाए जा रहे हैं।
वह आज सुल्तानपुर लोधी में 1 से 12 नवंबर तक करवाए जा रहे डिजिटल म्युजिय़म और आवाज़ और रौशनी प्रोग्राम के प्रबंधों का जायज़ा लेने पहुँचे थे। उन्होंने सुल्तानपुर लोधी में होने वाले मुख्य समागमों के दौरान देश भर से आने वाले पत्रकारों की सुविधा के लिए मीडिया सैंटर की स्थापना, मीडिया कर्मियों की रिहायश और शिनाख्ती पास बनाने सम्बन्धी अधिकारियों को ज़रुरी दिशा-निर्देश जारी किये।
पवित्र बेईं के किनारे स्थापित किये गए मुख्य पंडाल के नज़दीक करवाए जाने वाले डिजिटल म्युजिय़म और लाईट एंड साऊंड प्रोग्राम के प्रबंधों का जायज़ा लेते हुये उन्होंने कहा कि पंजाब सरकार द्वारा श्री गुरु नानक देव जी के जीवन, उदासियों और फलसफे से लोगों को अवगत करवाने के मकसद से राज्य भर में यह प्रोग्राम करवाए जा रहे हैं, जोकि 10 फरवरी, 2020 तक जारी रहेंगे।
उन्होंने बताया कि सुल्तानपुर लोधी में अति-आधुनिक तकनीकोंं वाले लाईट एंड साऊंड शो के दौरान 10 हज़ार लोगों के बैठने का इंतज़ाम किया गया है। उन्होंनेे बताया कि सुल्तानपुर लोधी में 1 से 3नवंबर तक डिजिटल म्युजिय़म प्रात:काल 7 से शाम 5.30 बजे तक संगत के लिए खुला रहेगा। इसके अलावा 45 मिनट का लाईट और साऊंड शो 2 और 3 नवंबर को शाम 6.15 से शाम 7 बजे तक और 7.45 से 8.30 बजे तक होगा। इसके अलावा 4 से 9 नवंबर तक यह प्रोग्राम रोज़मर्रा की शाम 7 से 7.45 तक होगा, जबकि 10, 11 और 12 नवंबर को शो 7 से 7.45 और 8.30 से 9.15 तक होंगे। उन्होंने पुलिस अधिकारियों को संगत की सुरक्षा के लिए पुख्ता इंतज़ाम करने के निर्देश भी दिए।
उन्होंने बताया कि वर्तमान समय में यह प्रोग्राम जालंधर जि़ले में चल रहे हैं, जोकि आगे से 19 से 21 को आई.एफ.एस. कॉलेज घल्ल कलाँ मोगा, 23 से 25 को नवाब जस्सा सिंह आहलूवालीया सरकारी कॉलेज कपूरथला, 1 से 3 नवंबर को वी.वी.आई.पी. पार्किंग सुल्तानपुर लोधी, 5 से 7 नवंबर को बहु-तकनीकी कॉलेज बटाला, 9 से 11 नवंबर को दाना मंडी डेरा बाबा नानक, 13 से 15 नवंबर को पठानकोट शहर, 17 से 19 पुड्डा मैदान गुरदासपुर, 21 से 23 रौशन मैदान होशियारपुर, 25 से 27 एस.बी.एस. नगर शहर, 29 नवंबर से 1 दिसंबर को नेहरू स्टेडियम रोपड़, 3 से 5 दिसंबर को चंडीगढ़, 7 से 9 दिसंबर फ़तेहगढ़ साहिब शहर, 11 से 13 पटियाला शहर, 15 से 17 संगरूर शहर, 19 से 21 दिसंबर बरनाला शहर, 23 से 25 दिसंबर मानसा शहर, 15 से 17 जनवरी 2020 को बठिंडा शहर, 19 से 21 जनवरी को श्री मुक्तसर साहिब शहर, 23 से 25 फाजिल्का शहर, 27 से 29 फरीदकोट शहर, 31 जनवरी से 2 फरवरी को फिऱोज़पुर शहर, 4 से 6 फरवरी को तरन तारन शहर और 8 से 10 फरवरी को श्री अमृतसर साहब में लाईट एंड साऊंड शो और डिजिटल म्युजिय़म लगाए जाएंगे।
उन्होंने लोगों से अपील की कि वह डिजिटल म्युजिय़म और आवाज़ और रौशनी प्रोग्रामों में परिवारों समेत बढ़-चढ़ कर शिरकत करें।
———–
सूचना एवं लोक संपर्क विभाग, पंजाब
स्थानीय निकाय विभाग ने स्वै-सहायता ग्रुपों के हाथ से बनाऐ उत्पादों की राज्य स्तरीय वर्कशॉप कम प्रदर्शनी लगाई
चंडीगढ़, 15 अक्तूबर:
पंजाब के स्थानीय निकाय संबंधी विभाग द्वारा आज म्यूंसीपल भवन, सैक्टर-35, चंडीगढ़ में दीन दयाल उपाध्याय -नेशनल अर्बन लाईवलीहुड मिशन स्कीम के अधीन बनाऐ गये स्वै- सहायता ग्रुपों के हाथों से बनाऐ उत्पादों की राज्य स्तरीय वर्कशाप कम प्रदर्शनी लगाई गई। इस वर्कशॉप का उद्घाटन स्थानीय निकाय विभाग के प्रमुख सचिव श्री ए. वेनू प्रसाद ने किया।
यह जानकारी स्थानीय निकाय विभाग के सरकारी प्रवक्ता ने दी। उन्होंने कहा कि अपने संबोधन में श्री ए. वेनू प्रसाद ने स्वै-सहायता ग्रुपों द्वारा बनाऐ उत्पादों को उत्साहित करने के ढंगों संबंधी सुझाव दिए। उन्होंने कई मार्किट रणनीतियों पर भी प्रकाश डाला जिनसे स्वै-सहायता ग्रुपों द्वारा बनाऐ उत्पाद उपभोक्ताओं का ध्यान आकर्षित कर सकते हैं।
इस वर्कशाप का मुख्य आकर्षण स्वै-सहायता ग्रुपों द्वारा बनाऐ गये उत्पादों की राज्य स्तरीय प्रदर्शनी कम बिक्री थी। पंजाब के विभिन्न जिलों की प्रतिनिधित्व कर रहे स्वै-सहायता ग्रुपों की तरफ से 32 से अधिक स्टॉल लगाए गए जिनमें विभिन्न हैंडलूम, हस्त शिल्पें, स्नैक्स, हाथ से बनी लोहे की चीजें, फूलकारी, आर्गेनिक लड्डू, अनाज, थैला, सजावटी वस्तुएँ, रेशम के उत्पाद और हाथ से बने अन्य उत्पाद शामिल थे। स्वै-सहायता ग्रुपों द्वारा करीब 1 लाख रुपए के उत्पाद बेचे गए। इस प्रदर्शनी का उद्घाटन स्थानीय निकाय विभाग के डायरैक्टर कम मिशन डायरैक्टर एन.यू.एल.एम श्री करनेश शर्मा ने किया। उन्होंने दीन दयाल उपाध्याय -नेशनल अर्बन लाईवलीहुड मिशन स्कीम के अधीन पंजाब की प्रगति को दिखाया और बताया कि 7027 स्वै-सहायता ग्रुप बनाऐ गए हैं और 2058 स्वै-सहायता ग्रुपों द्वारा हाथों से विभिन्न उत्पाद बनाऐ गए हैं। वर्कशॉप को संबोधन करते हुये स्थानीय निकाय विभाग के सचिव श्री अजोए शर्मा ने सर्विस क्षेत्र में भी स्व सहायता ग्रुप बनाने का सुझाव दिया जहाँ इन गरीब महिलाओं के लिए काफ़ी मौके उपलब्ध हैं। इस वर्कशॉप में भारत सरकार के आवास निर्माण और शहरी मामलों संबंधी मंत्रालय के डिप्टी सचिव श्री वाई.एस. अवाना ने मुख्य मेहमान के तौर पर शिरकत की।
———–
सूचना एवं लोक संपर्क विभाग, पंजाब
रिकॉर्ड की जांच के बाद मार्केट कमेटी, बटाला का सचिव मुअत्तल
जांच के दौरान धान की खरीद में कई कमियां सामने आईं
चंडीगढ़, 15 अक्तूबर:
धान की खरीद प्रक्रिया में अनियमिताएं पायेे जाने के बाद मार्केट कमेटी, बटाला के सचिव की सेवाएं मुअत्तल कर दी गई हैं। यह कार्यवाही मार्केट कमेटी बटाला में रिकार्ड की चैकिंग के आधार पर की गई है, जहाँ विशेष टीम द्वारा जांच के दौरान धान की खरीद में अनियमिताएं पायी गई।
मंडी बोर्ड के एक प्रवक्ता ने आज बताया कि धान की निर्विघ्न और पारदर्शी खरीद को यकीनी बनाने के लिए बोर्ड द्वारा मंडियों की जांच के लिए विशेष टीमें गठित की गई हैं। उन्होंने कहा कि धान की खरीद में किसी भी तरह की ढील बर्दाश्त नहीं की जायेगी।
इस सम्बन्धी विवरण देते हुये प्रवक्ता ने कहा कि मंडी बोर्ड द्वारा गठित विशेष जांच टीमों द्वारा मार्केट कमेटी बटाला और जंडियाला गुरू, अमृतसर में गेहड़ी के रिकार्ड की गहराई से जांच की गई। जांच के दौरान सामने आया कि आढ़तियों द्वारा मार्केट कमेटी के स्टाफ के साथ मिल कर किसानों से कम कीमत पर धान की खरीद कर खरीद एजेंसियों को न्यूनतम समर्थन मूल्य (एम.एस.पी.) पर बेचा गया। इस सम्बन्धी समूचा रिकार्ड ज़ब्त कर लिया गया है और कम कीमत पर खरीदा गये धान की फ़सल को विभिन्न शैलरों को भेज दिया गया है।
प्रवक्ता ने आगे बताया कि जांच के बाद दोषी पाये जाने वाले अधिकारियों के खि़लाफ़ सख्त कार्यवाही अमल में लाई जायेगी। उन्होंने स्पष्ट करते हुये कहा कि खरीद प्रक्रिया के दौरान ड्यूटी में कोताही बरतने वाले किसी भी अधिकारी को बख्शा नहीं जायेगा।
***********
सूचना एवं लोक संपर्क विभाग, पंजाब
1712579 मीट्रिक धान की हुई खरीद
शैलर मालिकों के साथ नियमित अलॉटमैंट और समझौते जारी
43 फीसदी लिफ्टिंग मुकम्मल
चंडीगढ़, 15 अक्तूबर:
राज्य भर में धान की खरीद प्रक्रिया निर्विघ्न और सुचारू ढंग से चल रही है। यह जानकारी पंजाब सरकार के एक सरकारी प्रवक्ता ने दी।
धान की चल रही खरीद प्रक्रिया संबंधी विवरण देते हुए प्रवक्ता ने बताया कि 14 अक्तूबर तक 17.13 लाख मीट्रिक टन धान की खरीद हो चुकी है जिसमें से सरकारी एजेंसियों द्वारा 1661272 मीट्रिक टन और निजी मिल मालिकों द्वारा 51307 मीट्रिक टन धान की खऱीद की गई है।
उन्होंने बताया कि राज्य में हुई धान की कुल खऱीद में से पनग्रेन द्वारा 651652 मीट्रिक टन, मार्कफैड्ड द्वारा 442903 मीट्रिक टन और पनसप द्वारा 314262 मीट्रिक टन धान की फ़सल खरीदी गई है जबकि पंजाब स्टेट वेयरहाऊसिंग कोर्पोरेशन द्वारा 219926 मीट्रिक टन और एफ.सी.आई. द्वारा 32529 मीट्रिक टन धान की फ़सल खरीदी जा चुकी है।
लिफ्टिंग के आंकड़ों का विवरण देते हुए उन्होंने कहा कि 72 घंटों की समय सीमा के मुकाबले धान की लिफ्टिंग प्रतिशतता के अनुसार 11 अक्तूबर तक कुल आमद की 43 प्रतिशत से अधिक लिफ्टिंग कर ली गई है।
उन्होंने आगे बताया कि मिल अलॉटमैंट की प्रक्रिया जारी है और मिल मालिकों द्वारा रोज़मर्रा के अधिक से अधिक समझौते सहीबद्ध किये जा रहे हैं। उन्होंने बताया कि अब तक 2354 मिलें अलॉट की जा चुकी हैं जिनमें से मोगा की 290, संगरूर की 247, पटियाला की 230, लुधियाना (पश्चिमी) की 198, लुधियाना (पूर्व) की 184, मुक्तसर की 177, बठिंडा की 128, बरनाला की 115 और फिऱोज़पुर की 114 मिलें शामिल हैं।
प्रवक्ता ने बताया कि इसके अलावा 1330 मिलों ने सरकार के साथ समझौते सहीबद्ध किये हैं जिनमें होशियारपुर की 40 मिलों में से 40, मुक्तसर की 177 मिलों में से 175, जालंधर की 88 मिलों में से 81, अमृतसर की 17 मिलों में से 15, फाजि़ल्का की 52 मिलों में से 49, फिऱोज़पुर की 114 मिलों में से 90, तरन तारन की 21 मिलों में से 17, कपूरथला की 65 मिलों में से 60 शामिल हैं। उन्होंने आगे बताया कि आने वाले दिनों में और भी समझौते सहीबद्ध किये जाने की उम्मीद है।
——–
कार्यालय मुख्य चुनाव अधिकारी, पंजाब
इंस्पैक्टर किक्कर सिंह एस.एच.ओ. दाखा नियुक्त
चंडीगढ़, 15 अक्तूबर:
कार्यालय मुख्य चुनाव अधिकारी पंजाब डॉ. एस करुणा राजू ने आज इंस्पेक्टर किक्कर सिंह नंबर 35/एफ.आर. इंचार्ज सी.आई. स्टाफ को एस.एच.ओ. दाखा नियुक्त करने सम्बन्धी मंजूरी दे दी है।
यह जानकारी कार्यालय मुख्य चुनाव अधिकारी पंजाब के प्रवक्ता द्वारा दी गई।
———
कार्यालय मुख्य चुनाव अधिकारी, पंजाब
वोटर सूचियों की विशेष समीक्षा प्रोग्राम की तारीखों में वृद्धि
चंडीगढ़, 15 अक्तूबर:
भारतीय चुनाव आयोग ने पंजाब राज्य में चल रहे फोटो वोटर सूचियों के विशेष संशोधन प्रोग्रामों की तारीखों में वृद्धि की है।
इस सम्बन्धी जानकारी देते हुए कार्यालय मुख्य चुनाव अधिकारी पंजाब के एक प्रवक्ता ने बताया कि वोटर पहचान प्रोग्राम और अन्य प्रारम्भिक गतिविधियों जिनमें पोलिंग स्टेशनों की रैशनलाईजेशन की तारीख़ को बढ़ाकर 18 नवंबर, 2019 कर दिया है जबकि वोटर सूची 25 नवम्बर, 2019 को प्राथमिक तौर पर प्रकाशित कर दिया जायेगा। त्रुटियों और ऐतराज़ तारीख़ 25.11.2019 से 24.12.2019 तक लिए जाएंगे। त्रुटियों और ऐतराज़ सम्बन्धी प्राप्त आवेदनों का निपटारा 10 जनवरी, 2020 तक किया जायेगा।
प्रवक्ता ने बताया कि 20 जनवरी, 2020 को वोटर सूचियों की अंतिम प्रकाशना होगी।
———–
सूचना एवं लोक संपर्क विभाग, पंजाब
श्री गुरू नानक देव जी के 550वें प्रकाश पर्व सम्बन्धी जश्न
स्थानीय निकाय विभाग द्वारा सुल्तानपुर लोधी में सभी बुनियादी विकास प्रोजैक्ट मुकम्मल-ब्रह्म मोहिन्द्रा
ठोस कूड़ा कर्कट के प्रबंधन के लिए मुम्बई आधारित कंपनी के साथ समझौता करके काम सौंपा
350 नई एल.ई.डी. लाईटें लगाने के अलावा शहर के बीच में मौजूदा सभी 1750 स्ट्रीट लाईटों की जगह एल.ई.डी. लाईटें लगाईं
शहर की सभी सडक़ों के किनारे इंटरलॉकिंग टाइल लगाई
ऐतिहासिक शहर की सभी अंदरूनी सडक़ों का किया पुनर्निर्माण
चंडीगढ़, 15 अक्तूबर:
श्री गुरु नानक देव जी के 550वें प्रकाश पर्व को मनाने के हिस्से तौर पर स्थानीय निकाय विभाग द्वारा सुल्तानपुर लोधी में चलाए जा रहे सभी विकास कार्य मुकम्मल कर लिए गए हैं। इन कामों के मुकम्मल होने से स्थानीय निकाय विभाग सभी बुनियादी विकास कामों को समय पर पूरा करने वाला पहला विभाग बन गया है। यह बात स्थानीय निकाय मंत्री श्री ब्रह्म मोहिन्द्रा ने यहाँ जारी एक प्रैस बयान में कही। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह के योग्य नेतृत्व अधीन और वित्त विभाग द्वारा समय पर फंड जारी करने के कारण ही विभाग इन विकास कामों को समयबद्ध ढंग से मुकम्मल करने में सफल रहा है।
विभाग द्वारा सुल्तानपुर लोधी में चलाए जा रहे विकास कामों संबंधी और जानकारी देते हुए श्री मोहिन्द्रा ने बताया कि इस ऐतिहासिक शहर की सभी अंदरूनी सडक़ें दोबारा बनाईं गई हैं और शहर की सभी 1750 स्ट्रीट लाईटों की जगह एल.ई.डी. लाईटें लगाई गई हैं और इसके साथ ही पूरे शहर में 350 नई एल.ई.डी. स्ट्रीट लाईटेंं भी लगाई गई हैं। उन्होंने बताया कि शहर के आठ मुख्य चौकों में 16 मीटर ऊँची एल.ई.डी. लाईटें भी लगाई गई हैं। उन्होंने बताया कि 20 अत्याधुनिक स्थाई महिला और पुरूष शोचालयों का निर्माण भी किया गया है। इसी तरह श्रद्धालुओं को शहर में आसानी से चलने -फिरने के लिए सडक़ों के किनारे इंटरलॉकिंग टाईलें भी लगाई गई हैं। उन्होंने बताया कि इलाके में स्वच्छता और सफ़ाई को कायम रखने के लिए लंगर, पार्किंग और अन्य स्थानों पर कुल 240 कूड़ादान भी रखे गए हैं। उन्होंने बताया कि इस पवित्र समागम के दौरान सफ़ाई कामों को और पुख्ता बनाने के लिए 4350 सफ़ाई सेवकों, सिवरेज कर्मचारियों और ट्राली कर्मचारियों आदि की सेवाओं भी ली जाएंगी। श्री ब्रह्म मोहिन्द्रा ने बताया कि स्थानीय निकाय विभाग समूह 15 सैक्टरों में भाव शहर की हद के अंदर और बाहर ठोस कूड़ा कर्कट प्रबंधन के कामों का भी ध्यान रखेगा। उन्होंने बताया कि विभाग द्वारा ठोस कूड़ा कर्कट प्रबंधन के लिए श्रमिकों की सप्लाई के लिए मुम्बई आधारित कंपनी मैसर्ज क्रिस्टल इंटीग्रेटिड प्राईवेट लिमटिड के साथ समझौता करके काम सौंपा गया है। उन्होंने कहा कि यह कंपनी शहर की हद के अंदर और बाहर पार्किंग एरिया, लंगर साईटों, सभी सडक़ों और टैंट साईटों के लिए ठोस कूड़ा कर्कट के प्रबंधन के लिए पुख्ता प्रबंध करेगी।
स्थानीय निकाय मंत्री ने कहा कि सुल्तानपुर लोधी को 15 सैक्टरों में बाँटा गया है। उन्होंने बताया कि स्थानीय निकाय विभाग के 4 संयुक्त डिप्टी डायरेक्टरों को सब नोडल अधिकारियों के तौर पर लगाया गया है और हरेक नोडल अधिकारी 3 सैक्टरों के लिए सब नोडल अधिकारी होगा। इसके साथ ही हरेक सैक्टर के लिए कार्यकारी अधिकारी को सैक्टर अधिकारी के तौर पर लगाया गया है। उन्होंने कहा कि शिकायतों के तुरंत निपटारे के लिए हरेक सैक्टर अधिकारी 24 घंटे मौजूद रहेगा। उन्होंने बताया कि स्ट्रीट लाईटों और सिवरेज के मुरम्मत कामों की देख -रेख के लिए अलग टीमें लगाई गई हैं। उन्होंने कहा,‘‘श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए स्थानीय निकाय विभाग पूरे शहर में साईन बोर्ड भी लगाएगा।’’
———–
सूचना एवं लोक संपर्क विभाग, पंजाब
करतारपुर गलियारे के निर्माण कार्य हर हाल में 31 अक्तूबर तक होगा मुकम्मल-विजय इंदर सिंगला
लोक निर्माण मंत्री ने डेरा बाबा नानक में गलियारे के चल रहे काम का जायज़ा लिया
13 करोड़ नानक नाम लेवा संगत की अरदासें पुरी करने में जुटे विभाग के हर कर्मचारी और अधिकारी को दिया जायेगा प्रशंसा पत्र-सिंगला
चंडीगढ़ /डेरा बाबा नानक, 15 अक्तूबर:
पहली पातशाही श्री गुरु नानक देव जी के 550वें प्रकाश पर्व के अवसर पर खुल रहे करतारपुर गलियारे के निर्माण काम का जायज़ा लेने मंगलवार को डेरा बाबा नानक पहुँचे लोक निर्माण मंत्री श्री विजय इंदर सिंगला ने कहा भारत वाले हिस्से का निर्माण कार्य हर हाल में 31 अक्तूबर तक मुकम्मल हो जायेगा।
श्री सिंगला ने भारत -पाकिस्तान अंतरराष्ट्रीय सरहद पर ज़ीरो लाईन पर चल रहे काम समेत सडक़ों, पुल्लों, इंटीग्रेेटिड चैक पोस्ट (आई.सी.पी.) आदि के काम का जायज़ा लेते हुए संतुष्टि ज़ाहिर की। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार द्वारा 15 से 31 अक्तूबर के बीच सभी काम मुकम्मल करने का लक्ष्य निश्चित किया गया था और आज ज़मीनी स्तर पर देखने के उपरांत तसल्ली हुई।
श्री सिंगला ने बताया कि अंतरराष्ट्रीय सरहद पर पाकिस्तान के साथ भारत को जोडऩे वाला पुल भारत वाले तरफ़ पर तो बन गया है परन्तु अभी पाकिस्तान वाला पुल नहीं बना। उन्होंने कहा कि जब तक दोनों पुल आपस में नहीं जोड़े जाते तब तक भारत वाला पुल बंद रहेगा और परिवर्तनीय प्रबंध के तौर पर रास्ता रखा गया है जिसके द्वारा श्रद्धालुओं को अंतरराष्ट्रीय सरहद पार गुरुद्वारा करतारपुर साहिब के दर्शनों के लिए जाएंगे। उन्होंने कहा कि विभाग के अधिकारियों को आदेश दिए गए हैं कि डेरा बाबा नानक में श्रद्धालुओं की बड़ी आमद को देखते हुए इस ऐतिहासिक कस्बे को जोड़ती सडक़ों की अपग्रेडेशन का काम भी तय समय के अंदर मुकम्मल कर लिया जाये। उन्होंने आगे जानकारी देते हुए बताया कि बटाला -डेरा बाबा नानक रोड 3.05 करोड़ रुपए की लागत के साथ 7 से 10 मीटर तक 2.10 किलोमीटर, रमदास -डेरा बाबा नानक रोड 3.60 करोड़ रुपए की लागत के साथ 5.5 /7 से 10 मीटर तक 3.10 किलो मीटर, फतेहगढ़ चूड़ीयां -डेरा बाबा नानक रोड 1.49 करोड़ रुपए की लागत के साथ 900 मीटर चौड़ी हो रही है।
श्री सिंगला ने कहा कि गुरुद्वारा करतारपुर साहिब के दर्शनों के लिए 13 करोड़ नानक नाम लेवा संगत कई वर्षों से अरदास कर रही थी जिसको अब वह पूरा होते हुए देख रहे हैं। उन्होंने कहा कि यह संगत की अरदास का ही निष्कर्ष है कि थोड़े समय के अंदर निर्माण काम पूरे हो रहे हैं। उन्होंने कहा इस काम के साथ संगत की भावना भी जुड़ी हुई थी जिस कारण विभाग के हर कर्मचारी और अधिकारी ने तनदेही के साथ इस काम को 550वें प्रकाश पर्व से पहले पूरा करने के लिए काम किया। उन्होंने यह भी ऐलान किया कि विभाग के हर कर्मचारी और अधिकारी को प्रशंसा पत्र देकर उनकी सेवाओं का सम्मान किया जायेगा। उन्होंने यहाँ काम कर रहे मज़दूरों के साथ भी बातचीत की।
इस अवसर पर लोक निर्माण विभाग के चीफ़ इंजीनियर अरुण कुमार और जे.एस. मान, सुपरीटेंडैंट इंजीनियर सुखदेव सिंह और ऐक्सियन हरजोत सिंह भी उपस्थित थे।
—————
सूचना एवं लोक संपर्क विभाग, पंजाब
पंजाब में स्टेट ऑर्गन एंड टिशू ट्रांसप्लांट संस्था की जायेगी स्थापित-ओ.पी. सोनी
सरकारी मैडीकल कॉलेज अमृतसर और पटियाला में स्थापित किये जाएंगे ऑर्गन रीट्रीवल सैंटर
चंडीगढ़, 15 अक्तूबर:
राज्य में ऑर्गन ट्रांसप्लांट को उत्साहित और नियमित करने की ज़रूरत महसूस करते हुए मैडीकल शिक्षा और अनुसंधान विभाग द्वारा राज्य में स्टेट ऑर्गन एंड टिशू ट्रांसप्लांट संस्था स्थापित करने के साथ-साथ सरकारी मैडीकल कॉलेज, अमृतसर और पटियाला में एक-एक ऑर्गन रीट्रीवल सैंटर स्थापित किया जायेगा। यह जानकारी मैडीकल शिक्षा और अनुसंधान मंत्री श्री ओ.पी. सोनी ने दी।
श्री सोनी ने कहा कि जीवन के अंतिम पड़ाव पर मरीज़ों की जान बचाने के लिए ऑर्गन ट्रांसप्लांट सम्बन्धी मानवीय अंगों की उपलब्धता ज़रूरत से बहुत कम है। इसलिए मृतक देह के अंग दान को उत्साहित करने के लिए राज्य में ऑर्गन रीट्रीवल और ट्रांसप्लांटेशन सम्बन्धी बुनियादी ढांचा विकसित किया जा रहा है।
उन्होंने बताया कि स्टेट ऑर्गन एंड टिशू ट्रांसप्लांट संस्था (सोटो) नेशनल ऑर्गन ट्रांसप्लांट प्रोग्राम के अंतर्गत स्थापित किया जा रहा है। इस प्रोजैक्ट का खर्चा केंद्र सरकार द्वारा किया जायेगा जिसके अंतर्गत इसकी इमारत बनाने पर 35 लाख रुपए की लागत आयेगी इसके अलावा मैनपावर पर 38 लाख रुपए सालाना और अमृतसर और पटियाला में ऑर्गन रिट्रीवल सैंटर स्थापित करने के लिए 25 -25 लाख रुपए खर्चा आऐगा। श्री सोनी ने बताया कि इस प्राजैक्ट के लिए केंद्र सरकार ने 1.2 करोड़ रुपए की मंजूरी दे दी है और शुरूआती खर्चों के लिए अपेक्षित रकम जारी कर दी है।
मैडीकल शिक्षा और अनुसंधान मंत्री ने कहा कि सोटो समूचे ऑर्गन ट्रांसप्लांट सम्बन्धी गतिविधियों के लिए तालमेल करेगा और इसके बाद ग्रीन कोरीडोर शुरू करवाएगा, जो कि एक विशेष रास्ता है जिससे ट्रांसप्लांट करने वाले अंगों को सही समय पर निर्धारित अस्पताल तक पहुँचाया जा सकेगा।
————
सूचना एवं लोक संपर्क विभाग, पंजाब
पंजाब दीवाली बंपर में कुल 21 करोड़ रुपए जीतने का सुनहरी मौका
अब तक की सबसे बड़ी इनामी राशि
ढाई-ढाई करोड़ रुपए के पहले दो इनाम जनता में दिए जाने की गारंटी
दूसरे 10 इनाम 20 -20 लाख रुपए के ; ड्रा 1 नवंबर को
चंडीगढ़, 15 अक्तूबर:
पंजाब लॉट्रीज़ विभाग द्वारा माँ लक्ष्मी दीवाली पूजा बंपर 2019 की टिकटों की बिक्री जारी है। यह बंपर अब तक का सबसे बड़ा बंपर है। इस बंपर का पहला इनाम पाँच करोड़ रुपए का होगा जबकि कुल इनामों की रकम 21 करोड़ रुपए बनती है। यह अब तक की सबसे बड़ी राशि है।
लॉट्रीज़ विभाग के एक प्रवक्ता ने बताया कि पाँच करोड़ रुपए के पहले इनाम दो विजेताओं को (2.50-2.50 करोड़ रुपए) दिया जायेगा। उन्होंने बताया कि दूसरा इनाम 20 लाख रुपए का होगा, जो 10 विजेताओं को दिया जायेगा। इस बंपर की 20 लाख टिकटें जारी की गई हैं जो कि ‘ए’ और ‘बी’ सीरीज में हैं। कुल इनामों की संख्या 2 लाख 4 हज़ार 122 है।
प्रवक्ता ने बताया कि पहले दो इनाम गारंटिड हैं और बिके हुए टिकटों में से ही निकाले जाएंगे। उन्होंने बताया कि तीसरे 10 इनाम 10-10 लाख रुपए के होंगे। 20 चौथे इनाम दो-दो लाख रुपए के होंगे। इसके अलावा दीवाली बंपर में और भी कई आकर्षित इनाम हैं।
उन्होंने बताया कि इस बंपर का ड्रा 1 नवंबर, 2019 को निकाला जायेगा। पंजाब सरकार द्वारा बंपर लॉट्री के पारदर्शी नतीजों के कारण इसकी लोगों में मज़बूत साख है। गौरतलब है कि भारतीय त्योहारों में दीवाली की ख़ास जगह होने के कारण माँ लक्ष्मी दीवाली पूजा बंपर की भी लोगों में काफ़ी आकर्षण होता है, यही कारण है कि दीवाली बंपर का पहला इनाम 5 करोड़ रुपए रखा गया है जिससे विजेताओं के लिए यह त्योहार दोगुनी ख़ुशी लाए और यादगार बन सके।
————–
सूचना एवं लोक संपर्क विभाग, पंजाब
स्कूली बच्चे अब किसानों को धान की पराली न जलाने के लिए जागरूक करेंगे
ग्रामीण क्षेत्र में पड़ते समूह स्कूलों के विद्यार्थी 18 अक्तूबर को प्रात:काल 9 से 10 बजे तक निकालेंगे जागरूक मार्च-काहन सिंह पन्नू
चंडीगढ़, 15 अक्तूबर:
मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह के दिशा निर्देशों पर पंजाब सरकार द्वारा धान की पराली जलाने के खि़लाफ़ शुरु की गई मुहिम में अब पंजाब के स्कूली बच्चे भी अपना योगदान डालेंगेे। ग्रामीण क्षेत्र में पड़ते राज्य के समूह प्राइमरी, मिडल, हाई और सीनियर सेकेंडरी स्कूलों के विद्यार्थी 18 अक्तूबर को अपने-अपने क्षेत्रों के गाँवों में प्रात:काल 9 से 10 बजे तक जागरूकता रैलियों के द्वारा किसानों को पराली जलाने के बुरे प्रभावों से अवगत करवाएंगे।
इस संबंधी जानकारी देते हुए कृषि विभाग के सचिव श्री काहन सिंह पन्नू ने बताया कि मुख्यमंत्री पंजाब द्वारा बीते दिन पंजाब के प्रगतिशील किसानों के साथ मीटिंग की गई थी जिसमें उन्होंने पराली न जलाने वाले किसानों के सुझाव सुने। इसके बाद यह फ़ैसला लिया गया कि पराली न जलाने की मुहिम को पूर्णत: सफल बनाने के लिए जागरूकता सबसे अहम हथियार है जिसके लिए स्कूली बच्चे सबसे कारगर साबित हो सकते हैं। उन्होंने कहा कि कृषि विभाग द्वारा राज्य के स्कूल शिक्षा के सचिव, समूह डिप्टी कमीश्नरों को पत्र लिखकर 18 अक्तूबर को निकाली जाने वाली रैलियों के लिए पराली जलाने के बुरे प्रभावों संबंधी जानकारी मुहैया करवाई गई है वहीं यह भी बताया गया कि किस तरह पराली न जला कर भूजल को बचाने, उत्पादन बढ़ाने और सबसे अहम हमारे वातावरण को कैसे बचाया जा सकता है। सरकार द्वारा डिप्टी कमीश्नरों और स्कूल शिक्षा विभाग के द्वारा पराली न जलाने के स्लोगन भी स्कूलों को मुहैया करवाए गए हैं। इसके साथ ही पराली जलाने से होने वाले धरती के खाद्य तत्वों के नुकसान और वातावरण में फैलती गंदली गैसों संबंधी भी जानकारी मुहैया करवाई गई है।
श्री पन्नू ने बताया कि राज्य सरकार द्वारा धान की पराली को आग लगाने से रोकने के लिए बहुत बड़ा अभियान चलाया जा रहा है। इस अभियान में किसानों को सब्सिडी पर मशीनें मुहैया करवाने के साथ-साथ उनको पराली जलाने से वातावरण पर पड़ रहे बुरे प्रभावों संबंधी भी अवगत करवाया जा रहा है। पंजाब में बहुत किसान ऐसे हैं जो पराली को आग लगाए बिना ही खेतों को जोत कर गेहूँ की फ़सल की बिजाई या सब्जियाँ आदि की काश्त करके बढिय़ा उत्पादन प्राप्त करते हैं। धान की पराली को आग लगाने से धरती की सेहत के साथ खिलवाड़ होता है और इस आग के धुएं से वातावरण प्रदूषित होता है।
उन्होंने कहा कि नवबंर महीने में श्री गुरु नानक देव जी का 550वां प्रकाश पर्व बड़े स्तर पर मनाया जा रहा है। गुरू साहिब द्वारा पवन, पानी और धरती को साफ़ रखने के दिए संदेश को अमली रूम में लागू करने के लिए स्कूली विद्यार्थी अहम रोल निभा सकते हैं। उन्होंने कहा कि पंजाब के स्कूलों में 60 लाख के करीब बच्चे पढ़ रहे हैं और प्रदूषित होते जा रहे वातावरण का सबसे बड़ा नुकसान इन बच्चों और विद्यार्थियों को भुगतना पड़ता है, इसलिए ग्रामीण क्षेत्रों के सभी स्कूलों के बच्चे अब ख़ुद जागरूक मुहिम की कमान संभालते हुए वातावरण को प्रदूषित होने से रोकने के लिए अपनी आवाज़ बुलंद करेंगे। उन्होंने कहा कि किसान परिवारों के बच्चों को कहा जायेगा कि वह अपने माँ बाप के साथ संवाद रचा कर उनको पराली न जलाने के लिए मनाएं और साथ ही बच्चों को प्रेरित किया जाये कि वह दीवाली के समय पटाख़े न चला कर वातावरण साफ़ रखने के लिए प्रण लें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here